‘मैं दंगों की रिपोर्टिंग पर था, उन्होंने धर्म की पहचान के लिए मेरे कपड़े उतरवाए’